Samudrantike - Hindi (समुद्रान्तिके)

Add to Cart

About The Product

"समुद्रान्तिके" ध्रुव भट्ट की मनोरम रचना है| 1993 में प्रकाशित यह उपन्यास एक मास्टरपीस की तरह माना जाता है| सौराष्ट्र के समुद्रतट पर सर्वे के काम के लिए चयनित एक युवा सिविल इंजिनियर के संस्मरणों के रूप में इस कथा की रचना की गयी है| कथा के केंद्र में आधुनिक जीवन शैली और परम्परागत मूल्यों का संतुलन करने की तड़प दिखाई देती है| पात्र, प्रसंग, स्थल और लोक जीवन को बुन लेने के अतिरिक्त इस कथा में ध्रुव भट्ट ने अपनी संवेदनशीलता जोड़कर ऐसा अद्भुत सृजन किया है जो वाचक को अंत तक जकड़े रखता है | वाचक को समुद्र और उसके आसपास की प्रकृति भी पात्र के रूप में दिखाई देने लगती है|